Main Sliderअंतर्राष्ट्रीयख़ास खबरपश्चिम बंगालराष्ट्रीयस्वास्थ्य

परमाणु वैज्ञानिक पद्मश्री डॉ.शेखर बसु का कोरोना से निधन, पीएम मोदी ने जताया शोक

 

कोलकाता। परमाणु ऊर्जा आयोग के पूर्व अध्यक्ष पद्मश्री डॉ. शेखर बसु का गुरुवार को एक निजी अस्पताल में कोविड-19 की वजह से निधन हो गया है। पद्मश्री से सम्मानित डॉ. बसु 68 वर्ष के थे। डॉ बसु ने भारत की परमाणु ऊर्जा से संचालित पहली पनडुब्बी आईएनएस अरिहंत के निर्माण में बेहद अहम भूमिका निभाई थी। पीएम मोदी ने उनके निधन पर शोक जताया है।

29, 30 सितंबर औऱ एक अक्टूबर की परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी

स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी बताया कि डॉ. बसु कोविड-19 और किडनी संबंधित अन्य रोग से पीड़ित थे। सुबह 4:50 मिनट पर उनका निधन हो गया।

पीएम में ने ट्वीट किया कि मैं परमाणु ऊर्जा वैज्ञानिक डॉ. शेखर बसु के निधन से दुखी हूं, जो एक प्रसिद्ध परमाणु वैज्ञानिक हैं, जिन्होंने भारत को परमाणु विज्ञान और इंजीनियरिंग में अग्रणी देश के रूप में स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। हमारे विचार और प्रार्थना उनके परिवार और दोस्तों के साथ हैं। शांति!

मैकेनिकल इंजीनियर डॉ. बसु को देश के परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम में उनके योगदान के लिए जाना जाता है। उन्हें 2014 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था।

loading...
Tags