Main Sliderअंतर्राष्ट्रीयख़ास खबर

जन्म के अगले ही दिन कोरोना पॉजिटिव हुई जुड़वा बच्चियां, गर्भ में मां से हुआ इंफेक्शन

दुनिया में पहली बार दो जुड़वां बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इन बच्चियों का जन्म 3 जुलाई को ब्रिटेन में हुआ था। मिरर ऑनलाइन की रिपोर्ट के मुताबिक, दोनों बच्चियां मां के संक्रमित होने के बाद कोरोना पॉजिटिव पाई गईं। डॉक्टर ने बच्चियों के जन्म के अगले ही दिन माता-पिता को इसकी रिपोर्ट दी।

32 वर्षीय सारा के अंदर कोरोना के कोई लक्षण नहीं दिख रहे थे, लेकिन बच्चियों के जन्म से पहले वो काफी घबराई हुई थीं। डॉक्टर्स का कहना है कि दोनों बच्चियों को गर्भनाल के जरिए मां से कोरोना का इंफेक्शन मिला था। अच्छी बात ये है कि जन्म लेने के बाद दोनों जल्दी ही रिकवर हो गईं।

देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 50.20 लाख के पार, पिछले 24 घंटों में 82 हजार से अधिक रोगमुक्त

14 दिन के क्वारनटीन के बाद केवल पिता आरोन ही उन्हें देख पाए थे। तकरीबन छह हफ्ते गुजरने के बाद डॉक्टर्स ने बच्चियों को हेल्दी, फिट और कोरोना मुक्त घोषित कर दिया है और अब वे पहली बार अपने घर जाने के लिए तैयार हैं। सारा ने कहा, ‘मैं काफी घबराई हुई थी। जैसे ही मुझे पता लगा कि मुझे कोविड-19 है तो मुझे अपने आप पर गुस्सा आने लगा था।’

उन्होंने कहा, ‘मैं नहीं जानती थी इसका क्या मतलब है। मुझे बहुत घबराहट हो रही थी। मैं पहले ही अपनी एक बच्ची को खो चुकी थी और बड़े सदमे में थी। कोई नहीं जानता था कि आगे क्या होने वाला है। ब्रिटेन में कोरोना वायरस (Covid-19) के साथ पैदा होने वाली ये पहली जुड़वा बच्चियां थीं।’

यूपी में नौ IAS अधिकारियों का तबादला, रंजन कुमार बने लखनऊ के नए कमिश्नर

जुड़वा बच्चों के कारण सारा को गर्भवस्था में भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। उन्हें प्रेग्नेंसी में काफी परेशानी हुई थी। सारा वेस्ट कंबरलैंड हॉस्पिटल से 300 मील दूर लंदन लेजर सर्जरी करवाने आईं। हालांकि यहां डॉक्टर ने साफ कर दिया कि वे दोनों में से किसी एक बच्ची को ही बचा पाएंगे। हालांकि बाद में सुरक्षित डिलीवरी हुई और दोनों बच्चियों को सुरक्षित इस दुनिया में लाया गया।

loading...
Tags