Main Sliderउत्तर प्रदेशक्राइमख़ास खबरवाराणसी

नकली शराब बनाने के लाई गई लाखों की स्प्रिट बरामद, एक गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने अवैध शराब बनाने के लिए गाजीपुर ले लायी जा रही 6050 लीटर स्प्रिट वाराणसी में कंटेनर से बरामद की और मौके से एक व्यक्ति काे गिरफ्तार कर लिया,बरामद स्प्रीट की कीमत करीब 60 लाख रुपये आंकी गई है।

एसटीएफ प्रवक्ता ने यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कुछ समय से सूचना प्राप्त हो रही थी कि वाराणसी व आस पास के जिलों में अवैध शराब बनाने वाले गिरोहो द्वारा हरियाणा से अवैध स्प्रिट मंगाकर शराब बनायी जा रही है। इन गिराहो को पकड़ने के लिए एसटीएफ की विभिन्न इकाईयों को लगाया गया था।

 उत्तर प्रदेश पुलिस विभाग के 16,668 पदों पर सीधी भर्ती की भर्ती प्रक्रिया तेज

उन्होंने बताया कि इसी क्रम में आज सूचना मिली कि हरियाणा से अवैध रूप से स्प्रिट लायी जा रही है, जो वाराणसी के चौबेपुर के रास्ते गाजीपुर में सप्लाई के लिए भेजी जायेगी। इस सूचना पर एसटीएफ की टीम थानाध्यक्ष चौबेपुर को अवगत कराते बताये गये स्थान सन्दहा तिराहे पर पहुंच गई और बताये गये कन्टेनर एवं कार का इंजतार करने लगी। कुछ देर बाद कंटेनर एवं कार आती दिखाई दी, जिसे एसटीएफ टीम द्वारा रोकने का प्रयास किया गया तो,कार चालक भागने लगा, जिसे आवश्यक बल प्रयोग कर गिरफ्तार कर लिया जबकि अंधेरे व बारिश का फायदा उठाकर कन्टेनर चालक गाड़ी छोड़कर भाग गया।

पाकिस्तान ने संघर्षविराम का किया उल्लंघन, नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी

प्रवक्तार ने बताया कि गिरफ्तार भैया लाल निषाद गाजीपुर जिले के पटना गांव का रहने वाला है। उसने बताया कि कंटेनर में 105 50 लीटर व 200 लीटर के चार ड्रम कुल स्प्रिट 6050 लीटर है। उसने बताया कि बरामद स्प्रीट सोनीपत हरियाणा से खरीदकर कर शम्भू ट्रान्सपोर्ट मोहाली से फर्जी विल्टी बनवाकर गाजीपुर व बिहार में सप्लाई करते है। जिसमें रंग आदि मिलाकर नकली शराब बनाकर उसे असली शराब के रूप में ठेको पर बेच देते है, जिससे अच्छा मुनाफा होता है।

उन्होंने बताया कि इस सिलसिले में मामला दर्ज कर गिरफ्तार आरोपी को चौबेपुर थाने में दाखिल करा दिया। आगे की कार्रवाई स्थानीय पुलिस द्वारा की जा रही है।

loading...
Tags