पुलवामा हमले को इमरान सरकार के मंत्री पाकिस्तान की बड़ी कामयाबी बताया

नई दिल्ली। पाकिस्तान ने आखिरकार कबूल लिया है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में उसका हाथ था। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के कैबिनेट मंत्री फवाद चौधरी ने संसद में इस हमले को बड़ी कामयाबी बताया है। 24 घंटे के भीतर पाकिस्तान की ओर से यह दूसरा बड़ा खुलासा है।

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी ने गुरुवार को संसद में कहा कि पुलवामा में हमला इमरान सरकार ने कराया है। हमने हिंदुस्तान को घुसकर मारा है। पुलवामा में जो हमारी कामयाबी है, वह इमरान सरकार के नेतृत्व में पूरे पाकिस्तान की और हमारी कौम की कामयाबी है। फवाद चौधरी पीएमएल-एन सांसद अयाज सादिक के विंग कमांडर अभिनंदन को लेकर दिए गए बयान का जवाब दे रहे थे।

चौधरी ने कहा कि अयाज सादिक साहब ने बुधवार को यहां पर बात की। अयाज ने संसद में इतनी सफाई से झूठ बोला कि झूठा शख्स भी क्या बात करेगा? बुधवार को अयाज कह रहे थे हिंदुस्तान हमला करने वाला है, यह सोचकर कुरैशी की टांगें कांप रहीं थीं। इस दावे को चौधरी ने संसद में झूठा करार दिया है। यही नहीं, उन्होंने बड़े आत्मविश्वास के साथ संसद में बता डाला कि पाकिस्तान ने भारत को घुसकर मारा है। वह यहीं नहीं रुके और पाकिस्तान की पोल खोल डाली। उन्होंने कहा कि पुलवामा में जो हमारी कामयाबी है, वह इमरान खान के नेतृत्व में पूरे देश की कामयाबी है। उसके हिस्सेदार आप भी हैं। हालांकि, इस बीच संसद में स्पीकर ने चौधरी को चुप कराने की कोशिश की है।

इससे पहले विंग कमांडर अभिनंदन पर पाकिस्तान ने स्वीकार किया था कि वह डरा हुआ था। पाकिस्तान के सांसद अयाज सादिक ने अपने देश की संसद में खुलासा किया कि अभिनंदन की रिहाई नहीं होने पर भारत, पाकिस्तान पर हमले के लिए तैयार बैठा था। सादिक ने संसद में बताया था कि विदेश मंत्री एसएम कुरैशी ने पीपीपी, पीएमएल-एन और सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा सहित संसदीय नेताओं के साथ एक बैठक में अभिनंदन को मुक्त करने के लिए कहा था। उस वक्त विपक्ष ने अभिनंदन समेत तमाम मुद्दों पर सरकार का साथ देने का वादा किया था।

विंग कमांडर अभिनंदन जब तक रहे, हमले के खौफ में था पाकिस्तान 

सादिक ने कहा कि विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने इस महत्वपूर्ण बैठक में कहा था कि अगर पाकिस्तान ने अभिनंदन को नहीं छोड़ा, तो भारत पाकिस्तान पर रात नौ बजे तक हमला कर रहा है। उन्होंने कहा कि मुझे बखूबी याद है कि एमएम कुरैशी उस बैठक में थे, जिसमें प्रधानमंत्री इमरान खान ने भाग लेने से इनकार कर दिया था। कुरैशी के पैर कांप रहे थे, उन्हें पसीना आ रहा था। इस बैठक में विदेश मंत्री कुरैशी ने कहा था कि अल्लाह के वास्ते इसको (अभिनंदन) वापस जाने दो, क्योंकि रात 9 बजे हिंदुस्तान, पाकिस्तान पर हमला कर देगा। साथ ही अयाज ने कहा कि हिंदुस्तान हमला नहीं करने वाला था। सरकार को सिर्फ घुटने टेककर अभिनंदन को वापस भेजना था, जो उन्होंने किया।

बता दें कि पिछले साल फरवरी 2019 में भारत ने बालाकोट में आतंकी कैंप पर स्ट्राइक किया जिसके बाद पाकिस्तान ने अपने फाइटर जेट भारत में हमले के लिए भेजे थे। इसके जवाब में विंग कमांडर अभिनंदन ने मिग-21 लेकर उड़ान भरी थी। विंग कमांडर अभिनंदन ने पाकिस्तान के एफ-16 विमान को मार गिराया था। इस दौराव वह विमान का पीछा करते हुए सीमा पार चले गए थे और उन्हें पकड़ लिया गया था। पूछताछ के दौरान पाक आर्मी ने उन्हें चाय पीने को दी थी और इसका वीडियो शेयर कर दिखाने की कोशिश की थी कि अभिनंदन की किस तरह खातिरदारी की जा रही है?

loading...