Main Sliderआजमगढ़उत्तर प्रदेशख़ास खबरराजनीतिराष्ट्रीय

जयाप्रदा के गॉडफादर अमर सिंह का इस एक्ट्रेस के साथ हुआ था पंगा, वायरल आडियो ने उड़ा दिए थे सबके होश

नई दिल्ली। राज्यसभा सांसद और समाजवादी पार्टी (सपा) के पूर्व महासचिव अमर सिंह का आज निधन हो गया। वह 64 वर्ष के थे। उनके परिवार में पत्नी और दो पुत्रियां हैं। अमर सिंह गुर्दा रोग से पीड़ित थे और छह माह से अधिक समय से सिंगापुर में उनका उपचार चल रहा था। उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में 27 जनवरी 1956 में जन्मे सिंह सपा संस्थापक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह के सबसे खासमखास थे। अमर सिंह की मेगास्टार अमिताभ बच्चन के भी निकटतम थे किंतु बाद में दोनों के बीच अनबन हो गई थी।

अमर सिंह के निधन पर भावुक हुए अमिताभ बच्चन,ऐसे जताया शोक

सिंह ने 2010 में सपा महासचिव पद और राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया था। बाद में दो फरवरी 2010 को सपा प्रमुख मुलायम सिंह ने उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया था। वह 2011 में कुछ समय जेल में भी रहे और कुछ समय तक राजनीति से दूर रहने के बाद श्री सिंह 2016 में सपा के समर्थन से फिर राज्यसभा के लिए निर्वाचित हुए इसी वर्ष अक्टूबर में उन्हें फिर सपा महासचिव बनाया था।

अभिनेत्री जयाप्रदा से उनके गहरे संबंध रहे और अभिनेत्री बिपाशा बसु से उनका एक आडियो वायरल हुआ था जिसमें अमर सिंह काफी आपत्तिजनक बातें करते सुने गए थे लेकिन बाद में अमर सिंह ने इसका खण्डन करते हुए कहा था कि यह मेरी आवाज नहीं है। माना जाता है कि जया प्रदा को पार्टी में लाने के पीछे अमर सिंह की बड़ी भूमिका थी। जया प्रदा भी अमर सिंह को दोस्त और राजनीतिक गुरु मानती रही हैं। जया प्रदा ने खुद बताया था कि किस तरह लोगों ने उनका और अमर सिंह का नाम जोड़ा।

अमर सिंह के निधन पर पीएम मोदी से लेकर अखिलेश यादव तक ने जताया दुख

अमर सिंह के साथ लिंकअप को लेकर एक बार जया प्रदा ने कहा था- मैं अमर सिंह को अपना ‘गॉडफादर’ मानती हूं हालांकि मैं उन्हें राखी भी बांध दूं, तब भी मेरे उनके बारे में बाते बनाना बंद नही करेंगे।

पिछले साल अक्टूबर में ही अमर सिंह ने भी ‘मी टू’ को लेकर फिल्म अभिनेत्री जया प्रदा और यूपी के पूर्व मंत्री आजम खां पर ऐसी बात कह दी थी, जिस पर बखेड़ा खड़ा हो गया था। नेताओं पर लग रहे आरोपों को लेकर अमर सिंह ने कहा कि अगर फिल्म अभिनेत्री जया प्रदा ‘मी टू’ कह दें तो आजम खां को जेल जाना पड़ सकता है। इसके बाद बोले, ‘मी टू’ मामलों की सही जांच के बाद कार्रवाई होनी चाहिए। ऐसे तो कोई मुझे भी फंसा सकता है।

राजनीति के ‘चाणक्य’ कहे जाने वाले सांसद अमर सिंह का निधन, जानें कुछ खास बातें

90 के दशक में अमिताभ बच्चन अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रहे थे। एक के बाद एक लगातार फ्लॉप फिल्मों और अपनी कंपनी एबीसीएल के डूबने के चलते उन्हें लगातार आयकर विभाग के नोटिस मिल रहे थे। उस वक्त महज 4 करोड़ रुपये न चुका पाने के चलते उनके बंगले के बिकने और उनके दिवालिया होने की नौबत तक आ गई थी। तब अमर सिंह ने दोस्ती का हाथ बढ़ाया और अमिताभ बच्चन को कर्जे से उबारा। फिर यह दोस्ती लंबी चली और बॉलिवुड से लेकर राजनीतिक गलियारों तक में चर्चा का विषय रही।

loading...
Loading...
Tags