Main Sliderक्राइमपंजाबराष्ट्रीय

माझा में जहरीली शराब मामला: 7 एक्साइज और 6 पुलिस अफसर सस्पेंड, सभी के खिलाफ होगी जांच

चंडीगढ़। जहरीली शराब के कारण तरनतारन, अमृतसर ग्रामीण और गुरदासपुर में 82 व्यक्तियों की मौत होने के मामले में विभागीय अफसरों पर गाज गिर गई है। इस मामले में आज 7 आबकारी एवं कर अधिकारी और इंस्पेक्टर और पंजाब पुलिस के दो डी.एस.पीज. और चार एस.एच.ओज. को निलंबित कर दिया गया है। इन सभी के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं।

आबकारी एवं कर इंस्पेक्टरों जिनको तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है, उनमें रवि कुमार (गुरदासपुर), गुरदीप सिंह (अमृतसर) और फतेहबाद से पुखराज और तरनतारन जिले में तरन तारन सीटी से हितेश प्रभाकर शामिल हैं।

TikTok की जल्द हो सकती है भारत में एंट्री, माइक्रोसॉफ्ट से हुआ सौदा

ड्यूटी में कोताही बरतने के दोष में निलंबित किये पुलिस अधिकारियों में डी.एस.पी. जंडियाला (अमृतसर ग्रामीण) और डी.एस.पी. सब-डिवीजन तरन तारन के अलावा थाना तरसिक्का (अमृतसर ग्रामीण), सीटी बटाला (बटाला पुलिस जिला), थाना सदर तरन तारन और थाना सीटी तरन तारन के एस.एच.ओज शामिल हैं।

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मृतकों के परिवारों को 2-2 लाख रुपए एक्स-ग्रेशिया मुआवजा देने का ऐलान किया। इनमें बहुत से तरनतारन से सम्बन्धित हैं जहां 63 मौतें हुई हैं जबकि अमृतसर ग्रामीण में 12 और गुरदासपुर (बटाला) में 11 मौतें हुई हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले में किसी भी सरकारी कर्मचारी या अन्य की मिलीभगत के सामने आने पर सख्त कार्यवाही की जाऐगी। उन्होंने नकली शराब बनाने और बेचने को रोकने में पुलिस और आबकारी विभाग की नाकामी को शर्मनाक करार दिया। उन्होंने कहा कि किसी को भी हमारे लोगों को जहर पिलाने की हरगिज इजाजत नहीं दी जाएगी। इस मामले में शामिल सभी लोगों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने का संकल्प करते हुए मुख्यमंत्री ने चेतावनी दी कि जो भी नकली शराब बेचने के धंधे में शामिल है, वह इसको तुरंत बंद कर दे या फिर गंभीर नतीजे भुगतने के लिए तैयार रहे।

अमर सिंह के निधन पर भावुक हुए अमिताभ बच्चन,ऐसे जताया शोक

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने पुलिस को दोषियों की खोज करने और इस केस में शामिल सभी व्यक्तियों पर आरोप तय करने के आदेश दिए हैं। इस केस में उन्होंने बीते दिन ही डिवीजन कमिश्नर को मैजिस्ट्रियल जांच करने के आदेश दिए हैं जिनको एक महीने में अपनी रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि ऐसी गैर-कानूनी कार्यवाहियों को सहन नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हर पंजाबी की जिंदगी बेशकीमती है और कुछ अपराधियों की लालसा की भूख मिटाने के लिए वह लोगों को मौत के मुँह में नहीं जाने देंगे।

कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा, ”मेरे लिए हर पंजाबी की जिंदगी महत्वपूर्ण है।ÓÓफेसबुक पर ‘कैप्टन को सवालÓ प्रोग्राम की 13वीं कड़ी के दौरान मुख्यमंत्री ने आबकारी एवं कर अधिकारी (ई.टी.ओज) के निलंबन का ऐलान किया जिनमें गुरदासपुर से लवजिन्दर बराड़, अमृतसर से बी.एस. चाहल और तरनतारन से मधुर भाटिया शामिल हैं।

loading...
Loading...
Tags