CategorizedMain Sliderअंतर्राष्ट्रीय

वैज्ञानिकों ने खोजा गैलेक्सी मिल्की वे से मृत तारे से कुछ इस तरह की तरंगे

वैज्ञानिकों को फास्ट रेडियो बर्स्ट्स और मैग्नेटर्स के बीच में संबंध की जानकारी नहीं थी। लेकिन हमारी ही गैलेक्सी मिल्की वे के एक मृत तारे से कुछ इस तरह की तरंगें और विकिरण एक साथ आए हैं जिससे वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि वे कई तरह के खगोलीय रहस्यों को सुलझा सकेंगे।

राज्यसभा सांसद अमर सिंह का सिंगापुर में निधन

यूरोपीय स्पेस एजेंसी की एकीकृत उच्च ऊर्जा अंतरिक्ष वेधशाला और दुनिया के टेलीस्कोप के सहयोग से वैज्ञानिकों ने इन खास विकिरणों को हमारी गैलेक्सी मिल्की वे के एक मृत तारे से निकलते देखा है। इस अध्ययन के लेखकों के मुताबिक यह खोज लंबे समय से चले आ रहे कॉस्मिक रहस्य को सुलझा सकती है।

ESA ने अपने बयान में कहा है कि इस पड़ताल में दो तरह की खगोलीय परिघटनाएं शामिल हैं। मैग्नेटर्स और फास्ट रेडियो बर्स्ट्स (FRB) ने इस अध्ययन के नतीजे एस्ट्रोफिजिकल जर्नल लैटर्स में प्रकाशित हुए हैं। ब्रह्माण्ड में मैग्नेटर्स के पास बहुत ही तीव्र मैग्नेटिक फील्ड होती है और जब वे सक्रिय होते हैं तो वे उच्च ऊर्जा वाली विकिरणों के छोटे प्रस्फोट पैदा कर सकते हैं। जो हमारे सूर्य से अरबों गुना ज्यादा चमकदार होते हैं।

वहीं रेडियो बर्स्ट्स, जिन्हें साल 2007 में सबसे पहले देखा गया था आज भी रहस्यमयी हैं। वे धुंधले होने से पहले ही कुछ मिली सेकेंड के लिए चमकीली रोडियो तरंगें भेजती हैं और फिर शायद ही कभी फिर दिखाई देते हैं। वैज्ञानिकों का कहना है कि रेडियो बर्स्ट्स का सही बर्ताव अभी तक नहीं पता चल सका है। इस तरह की परिघटनाएं अभी तक नहीं देखी गई थीं।

मेरेगेटी ने कहा, “पहली बार मैग्नेटर्स और फास्ट रेडियो बर्स्ट्स के बीच का अवलोकन के जरिए संबंध स्थापित हो सका है। यह एक बहुत बड़ी खोज है और इससे इस तरह की रहस्यमयी परिघटना की उत्पत्ति के पर प्रकाश डाला जा सकेगा।”

loading...
Loading...
Tags