CategorizedMain Sliderख़ास खबरधर्मयात्राराजनीतिराष्ट्रीय

अयोध्या: प्रधानमंत्री मोदी राम मंदिर भूमिपूजन से पहले हनुमानगढ़ी में करेंगे दर्शन

अयोध्या के राम मंदिर भूमि पूजन में बहुत कम दिन ही बाकी रह गए है। भूमिपूजन की तैयारिया जोरों शोरों से चल रही है। वही एक बात सामने आ रही है प्रधानमंत्री मोदी भूमिपूजन से पहले हनुमानगढ़ी में तीन मिनट दर्शन करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी तीन घंटे अयोध्या के राम मंदिर में रहेंगे फिर 2 बजे करीब वाहा से रवाना होंगें।

हनुमानगढ़ी के मुख्य पुजारी महंत राजू दास ने बताया, 5 अगस्त को प्रधानमंत्री भूमिपूजन के लिए आ रहे हैं, उन्होंने तय किया है कि पहले वो हनुमानगढ़ी में दर्शन करेंगे। यहां विशेष पूजा की व्यवस्था रहेगी। हमें 7 मिनट दिए गए हैं इसमें प्रधानमंत्री का आना-जाना शामिल है, करीब 3 मिनट पूजा में लगेंगे।

अफगानिस्तान को मिली बड़ी कामयाबी, ISIS खुरासान का चीफ असदुल्लाह ओरकजई अफगानिस्तान में मारा गया

पीएम मोदी हनुमानगढ़ी में पूजा करने के बाद मानस भवन में पूर्व-निर्मित मंदिर जाएंगे, जहां भगवान राम की मूर्ति रखी गई है. इसके बाद वह भूमि पूजन के लिए राम जन्मभूमि की ओर जाएंगे। कार्यक्रम स्थल पर एक छोटा मंच बनाया जा रहा है, जहां से प्रधानमंत्री संतों को संबोधित करेंगे. मंच पर सिर्फ 5 लोग ही रहेंगे। पीएम मोदी, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास मंच पर मौजूद रहेंगे।

अयोध्या में 5 अगस्त को राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए मेहमानों की लिस्ट में फेरबदल किया गया है। इस मौके पर अब 170 लोगों को ही बुलाया जा रहा है। बीजेपी के कई नेताओं और संतों के नाम मेहमानों की लिस्ट से हटा दिए गए हैं। बीजेपी के वरिष्ठ नेता एल के आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी के नाम अब मेहमानों की लिस्ट में नहीं है। सूत्रों के मुताबिक दोनों नेताओं ने आने में असमर्थता जताई है। जबकि राम मंदिर आंदोलन से जुड़े नेताओं उमा भारती और कल्याण सिंह के नाम मेहमानों की लिस्ट में हैं।

इसमें भैयाजी जोशी, दत्तात्रेय होसबोले, कृष्ण गोपाल, अनिल ओक, नागपुर से विमल और लखनऊ से क्षेत्र प्रचारक अनिल कुमार को भी बुलाया गया है। विश्व हिंदू परिषद से आलोक कुमार, दिनेश चंद्र और मिलिंद समेत छह लोगों को बुलाया जा रहा है।

 

loading...
Loading...
Tags